किसी को घर से बाहर जाते समय पीछे से टोकना होता है अपशकुन, जानिए क्यों - fun offbeat

Latest

Thursday, 9 November 2017

किसी को घर से बाहर जाते समय पीछे से टोकना होता है अपशकुन, जानिए क्यों

किसी को घर से बाहर जाते समय पीछे से टोकना होता है अपशकुन, जानिए क्यों, apshakun
आपने अक्सर ही अपने घर में सुना होगा कि किसी के बाहर जाते समय उसे पीछे से टोकना नहीं चाहिए। यह अशुभ माना जाता है, लेकिन यह किस प्रकार और कितना बुरा हो सकता है क्या आप ये जानते हैं?
टोकने के कारण बुरा होने का लॉजिक पूरी तरह वैज्ञानिक है। मनोविज्ञान के अनुसार जब भी आप किसी काम के बारे में सोचकर बाहर निकलते हैं तो आपका मस्तिष्क हर प्रकार से उसी को पूरा करने की योजना बनाने में डूबा होता है।
घर से बाहर निकलने के साथ ही दिमाग पूरी तरह उसी दिशा में सोच रहा होता है और बाकी सभी चीजों से उसका तार अपने आप टूट जाता है। इसमें कई बातें हो सकती हैं जैसे- कैसे जाना है, समय कितना हो रहा है,  पहुंचने में कितना समय लगेगा, वहां पहुचकर कैसे काम शुरु करना है, आदि।
लेकिन जैसे ही कोई उस समय उसे टोकता है तो सोच में अचानक बाधा उत्पन्न होती है। व्यक्ति अचानक पीछे मुड़ता है और उसके साथ ही दूसरी बातों को समझने की कोशिश करता है। यह कुछ ऐसा ही है जैसे तेजी से दौड़ते हुए व्यक्ति को हाथ पकड़कर एकाएक रोक दिया जाए। ऐसे में वह अपना बैलेंस नहीं बना पाने के कारण गिर पड़ेगा। यही बात टोकने के केस में भी होता है।
जैसे ही आप किसी को पीछे से बुलाते हैं, अपनी सोच से तुरंत बाहर ना निकल पाने के कारण उसकी सोच का संतुलन बिगड़ जाता है। उसे गुस्सा आता है और ऐसे में अभी तक सोची सभी चीजें वह लगभग भूल सा जाता है।
यह एक वैज्ञानिक तथ्य है कि व्यक्ति की शारीरिक गति और योजनाएं पूरी तरह उसकी सोच से प्रभावित होती हैं। ऐसे में इस असंतुलित सोच के साथ वह अपने कामों में संतुलन नहीं बना पाता और आगे की चीजें बिगड़ सकती हैं। संभव है ऐसे में रास्ते में चलते हुए अस्थिर दिमाग के के कारण वह दुर्घटना का शिकार हो जाए, या अगर किसी बहुत जरूरी काम से अगर वह कहीं गया हो तो योजना ठीक ना हो पाने के कारण उसे ठीक से कर ना पाए।
-------------------------------------
-------------------------------------

No comments:

Post a Comment

whatsapp button